इंडियन आर्मी

दिवाली के दिन ही शहीद हो गए राकेश डोभाल, पत्नी और माँ खबर सुन हुई बेहोश

दिवाली के दिन ही शहीद हो गए राकेश डोभाल, पत्नी और माँ खबर सुन हुई बेहोश

ऐसे तो दिवाली सभी के घरों में ढेर सारी खुशियां लेकर आती है परंतु राकेश डोभाल की मां और पत्नी को क्या पता था कि इस दिवाली उनकी सारी खुशियां ही लूट जाएगी, इस दिवाली पर उनके घर में खुशियां के बदले उनके घर का चिराग ही बुझ जाएगा।

बता दें की दीपावली से ठीक पहले बीएसएफ जवान राकेश डोभाल बारामुला में शहीद हो गए, जैसे ही इनकी शहीद होने की खबर है इनकी परिवार वालों के पास पहुंची, इनकी परिवार वालों का बिल्कुल ही रो रो कर बुरा हाल हो गया, यह कभी सपने में भी नहीं सोचे थे कि दीपावली के दिन उन्हें ऐसा कुछ देखने को मिलेगा।

माँ और पत्नी कि हालत खराब

Image Source Google

इस खबर को सुनकर उनकी पत्नी संतोषी सिंह डोभाल बिल्कुल ही विशुद्ध पर गई वही राकेश डोभाल की मां  रो-रो कर बार-बार बेहोश हो रही है। इस लाल के शहीद होने पर काफी लोग उनके घर आ उनके परिवार वालों को संतवाना दे रहे। पर शहीद कि माँ और पत्नी के मानो आँसू ही नहीं रुक रहे, आँसू रुके भी कैसे! किसी के घर दीपावली में इस तरह की खबर मिले तो इनकी आँसू कैसे थमेगी।

10 वर्षीय छोटे बच्चे को कोई सुध नहीं

Image Source Google

जवान की पत्नी बिल्कुल ही सदमे में आ गई है, उनके मुंह से कोई शब्द तक नहीं निकल रहा है, वह बस अपने पति को याद कर बार-बार बेहोश हो जा रही है, वहीं 10 वर्षीय छोटे बच्चे को कुछ मानो सुध  ही नहीं, उनको क्या पता कि उसके पिता हमेशा के लिए उससे दूर हो गए हैं, अब कभी भी उससे वह बात नहीं कर पाएंगे, वह बस एक टक से घर में आने वाले सभी लोगों को निहार रहा और अपनी मां के पास बैठ अपनी मां को देख रहा।

3 भाई शहीद राकेश

Image Source Google

गौर मतलब है कि शहीद राकेश 2004 मे सेना जॉइन किए थे। शहीद राकेश 2004 बीएसएफ में भर्ती हुए थे, बीते 1 साल से वह जम्मू कश्मीर में अपनी ड्यूटी कर रहे थे, शहीद राकेश डोभाल 3 भाई हैं, उनके बड़े भाई देहरादून के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर टीचर है, उनका छोटा भाई दिल्ली के एक होटल में काम करते हैं ।

Image Source Google

शहीद की खबर सुन इनके निवास ऋषिकेश के गंगानगर घर पर लोगों का बड़ा हुजूम उमड़ पड़ा, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के अलावा नगर निगम मेयर अनीता ममगायी भी शहीद के घर आए, सभी ने शोकाकुल परिवार सहित मां और उनकी पत्नी से मिलकर उनको संतावना दिया, उन्होंने कहा कि आपके लिए यह गर्व का पल है कि आपके बेटे ने देश के खातिर अपना जान न्योछावर किया है, हम लोगों के लिए यह काफी गर्व की बात है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top