देश

पहले मैप अब वेदर रिपोर्ट में आया POK,भारत के इस कदम से इमरान खान के उड़े होश

दुनिया अभी कोरोना वायरस में परेशान है पर पाकिस्तान अभी भी अपने तरफ आतंकवाद फैलाने मे लगा है।इसी से गुस्सा हो भारत ने को यह साफ लफ्जो में कह दिया है कि गिलगित और बालटिस्तान भारत का हमेशा से अभिन्न  हिस्सा रहा है।इतना ही नहीं इस पर आगे एक कदम बढ़ते हुए भारत में वेदर रिपोर्ट में जम्मू कश्मीर के सब डिवीजन जम्मू कश्मीर लद्दाख,गिलगित,बलूचिस्तान और मुजफ्फराबाद शामिल  कर लिया है।

मौसम विभाग ने वेदर अनुमान मे किया pok शामिल

Image Source google

आज जब भारतीय मौसम विभाग ने जब वेदर को लेकर अपना अनुमान जताया था उसमें गिलगित,बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद को भी शामिल कर लिया है।जिस पर अभी पाकिस्तान का अवैध रूप से कब्जा है। भारतीय मौसम विभाग द्वारा अपने बुलेटिन में गिलगित,बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के मौसम का पूर्वानुमान बताने का एक अहम फैसला माना जा रहा है।

आईएमडी के डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि मौसम विभाग जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लिए हमेशा से वेदर रिपोर्ट जारी करती रही है। गिलगित,बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद भी भारत का हमेशा से अभिन्न भाग रहा हैं इसलिए अब इस क्षेत्र का भी वेदर रिपोर्ट यहां से जारी करना आरंभ कर दिया गया है।

Image Source google

भारत ने गिलगित,बालटिस्तान में चुनाव कराने को लेकर पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी अपना   आपत्ति जाहिर किया था और सख्त लब्ज में कहा था कि पाकिस्तान गिलगित,बाल्टिस्तान क्षेत्र को जल्द से जल्द खाली करें।भारत ने इस पर अपना रुख साफ करते हुए कहा कि गिलगित और बालटिस्तान भारत का अभिन्न  हिस्सा है।पाकिस्तान की शासन व्यवस्था को इस पर फैसला देने का कोई हक नहीं है।पाकिस्तान जल्द से जल्द यह दोनों जगहो को खाली करें।

भारत हुमेसा अभिन्न अंग मानता है इसे

Image Source google

बता देंगे पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने हाल में ही गिलगित और बालटिस्तान को लेकर गवर्नमेंट ऑफ गिलगित बालटिस्तान 2018 में संशोधन करने की इजाजत दी है जिससे यहां आम चुनाव कराए जा सकते हैं।भारत ने पाकिस्तान को साफ करते हुए कहा कि संसद से 1994 में प्रस्ताव पास हो चुका है इसमें जम्मू कश्मीर की स्थिति बिल्कुल ही साफ की जा चुकी है पाकिस्तान में द्वारा हाल में उठाए गए कदम उसके अवैध कब्जे को बिल्कुल ही छुपा नहीं सकते। पाकिस्तान हमेशा से पीओके में रहने वाले लोगों के मानवाधिकारों का उल्लंघन करते रहा है।वहां के लोग लगातार शोषण के शिकार होते रहे हैं।

Image Source google

भारत ने अगस्त में जम्मू कश्मीर को जम्मू कश्मीर और लद्दाख 2 केंद्र शासित बनाने का फैसला किया था और इसका एक नया मानचित्र भी जारी किया गया था इस मानचित्र में भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भी भारत का हिस्सा दिखाया था।इसमें पीओके के  जिला मुजफ्फरपुर और मीरपुर को शामिल किया गया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top