देश

ऐसा कोई सगा नहीं जिसको चीन ने ठगा नहीं,भारत ही नहीं इन देशो को भी चीन ने ठगा

अभी पूरा विश्व कोरोना वायरस के इस महामारी से बिल्कुल ही बेचैन पड़ा है। चीन से फैला यह वायरस पूरे दुनिया में अभी कोहराम मचाया हुआ है। कोरोना वायरस का शुरुआत सबसे पहले चीन से हुआ था परंतु अब यह इस कोरोना वायरस के महामारी से तकरीबन उबर चुका है।अब चीन पूरी दुनिया भर में अपने मेडिकल सामग्रियों का सप्लाई कर रहा है परंतु इन सामग्रियों की गुणवत्ता इतनी खराब है कि हर देश इसकी शिकायत कर रहे हैं।जिस देश को भी चीन ने मेडिकल सामग्री भेजा है वहां इसकी खराब गुणवत्ता को लेकर शिकायत ही आई है।

चीन ने पीपीई किट काफी घटिया क्वालिटी

चीन के इस खराब गुणवत्ता वाले सामग्रियों का के कारण लाखों-करोड़ों व्यक्तियों की जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा है।भारत को पहले चीन ने पीपीई किट भेजे थे जो कि काफी घटिया क्वालिटी के थे और अब उसने रैपिड एंटी बॉडी टेस्ट किट भेजे हैं जिसके रिपोर्ट पर अब काफी सवाल भारत के अनेक राज्यों में देखने को मिल रहा है। कई टेस्ट कोट के रिज़ल्ट गलत आ रे हैं।इस तरह से चीन ने भारत को जहां पहले  पीपीई किट खराब क्वालिटी के भेजे थे अब एंटी बॉडी रैपिड टेस्ट किट मे भी पूरी तरह से धोखा ही दिया है।

परंतु गौर करने वाली बात यह है कि चीन सिर्फ भारत को ही धोखा नहीं दिया है चीन ने मेडिकल सामग्री के सप्लाई के मामले में दुनिया के कई देशों को धोखा दे चुका है। इसलिए कहा जा रहा है ऐसा कोई सगा नहीं जिसे चीन ने ठगा नही।

बॉडी रैपिड टेस्ट किट के नतीजे सवाल के घेरे

चीन से आए भारत में कोरोना वायरस के जांच के लिए एंटी बॉडी रैपिड टेस्ट किट के नतीजे अब सवाल के घेरे में आ गए हैं। ये पता था कि इस किट के जरिए कई व्यक्तियों को रिपी टटेस्ट किया जाएगा इसके बावजूद चीन ने इस मेडिकल टेस्ट किट का क्वालिटी का खराब सप्लाई भारत में किया।जिसके नतीजे भारत में काफी खराब देखने को मिल रहे हैं।

इसको लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने अभी फिलहाल 2 दिनों के लिए रैपिड टेस्ट पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। उसने कहा कि जो जांच के नतीजा सामने आ रहे हैं या बिल्कुल ही स्वीकार करने योग्य नहीं है। हो सकता है इस किट में कोई गड़बड़ी हो इसे बदलने की जरूरत है।वहीं इससे पहले आए चीन से भारतीय डॉक्टरों के लिए पीपीई किट भी आई थी उसमें भी काफी शिकायत मिली थी। करीब 25 परसेंट पीपीई किट ही सही क्वालिटी के थे।

पाकिस्तान को लड़कियों के अंडर गारमेंट से बने मास्क भेजे

इस तरह से अगर चीन के मेडिकल सामग्री की सप्लाई की बात करें तो चीन से धोखा खाने में सिर्फ भारत ही नहीं रहा है दुनिया के कई देश चीन के मेडिकल सामग्री सप्लाई में धोखा खा चुके हैं। अपने परम मित्र रहे पाकिस्तान को इसने लड़कियों के अंडर गारमेंट से बने मास्क सप्लाई कर दिए थे। वही भारत के पड़ोसी देश नेपाल को  अपने खेमे मे लेने के लिए कई प्रयास किए परंतु  उन्होंने अप्रैल में मेडिकल सामग्री से जुड़ा एक डील किया था जिसे नेपाली सरकार ने खराब क्वालिटी का हवाला देते हुए इस डील को खत्म कर दिया।

वही  चाइना के वहान शहर जब कोरोना काफी जोरों से फैला हुआ था तो कनाडा ने  उसे मेडिकल इक्विपमेंट से  सामान भेज कर उसकी मदद की थी परंतु जब कनाडा मे कोरोना फैलने पर  इन सब चीजों की जरूरत हो इन सब चीजों को ही दोबारा कनाडा को बिल के साथ भेज दिया।यूरोप के लगभग सभी देश चाइना के मेडिकल सामग्री  से धोखा खा चुके हैं। स्पेन, तुर्की, जॉर्जिया ,चेक रिपब्लिक ,नीदरलैंड्स को सभी देशों को इसने महामारी में मेडिकल  सामग्री के नाम पर ठग लिया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top