देश

भाई के मौत के बाद घर के बाहर लिखा-कोई शोक जताने ना आए,पेश की मिसाल

कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में हुई 21 दिनों के लॉक डाउन में जहां एक ओर लॉक  डाउन को कई लोग तोड़ते नजर आ रहे हैं और अपने घरों में रहने से बाज नहीं आ रहे हैं वहीं दूसरी ओर हिसार के इस युवक ने एक बहुत ही दिल छू लेने वाला काम किया है।

शोक मे आने से किया मना

हिसार के इस युवक ने अपने भाई के निधन हो जाने के बाद अपने घर के बाहर एक पोस्टर लगा दिया कि इस लॉक डाउन को देखते हुए कोई लोग शोक व्यक्त करने यहां नहीं आए। लॉक डाउन को बनाए रखें। इस व्यक्ति से उन लोगों को सीखना चाहिए जो तमाम कोशिशों के बावजूद ब्लॉक डाउन को तोड़कर बाहर निकल आ जा रहे हैं।

कोरोना और लॉक डाउन क्ले कारण लिया फैसला

बता दें कि कोरोना वायरस से निपटने का एक ही रास्ता बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी जी ने 21 दिनों का लॉक  डाउन करने का आह्वान किया था। उन्होंने इसके लिए सोशल डिस्टेंस की भी बात कही थी परंतु कुछ लोग इसको लेकर अभी तक जागरूक नहीं हो पाए हैं। और आए दिन इस लॉक डॉन को तोड़ते नजर आ रहे हैं।

हिसार के इस युवक जिनका नाम मुकेश गोयल है एक बहुत बड़ा मिसाल पेश किया है। उन्होंने कोरोना वायरस और लॉक डाउन को बहुत ही सीरियसली लिया है। हाल में ही उनके भाई संजय गोयल जिनका मौत फूड प्वाइजनिंग के कारण हो गया था।

जैसा कि देखा गया है किसी व्यक्ति के निधन पर कई लोग शोक व्यक्त करने उनके पास जाते हैं और यह सही भी है परंतु जिस तरह के हालात इस समय बन रहे हैं उसको लेकर लोगों के बीच सोशल डिस्टेंस जरूरी है। इसी को लेकर मुकेश गोयल ने अपने गेट के ऊपर यह नोटिस लिखा है।

देश में चल रहे भयंकर कोरोना त्रासदी और प्रधानमंत्री मोदी जी के अपील को देखते हुए बड़े दुख के साथ हाथ जोड़कर कहना पड़ रहा है कि जितना संभव हो सके आप अपने घर पर ही रहे।उन्होंने लिखा कि हम आपकी भावना का कद्र करते हैं आपसे सहयोग की प्रार्थना करते हैं।सभी शुभ चिंतकों को हाथ जोड़कर धन्यवाद।

मुकेश गोयल जी के इस कदम से कोरोना वायरस से लड़ने का देश को और ताकत मिल गई है।उनका यह कदम बेहद सराहनीय है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top